Advertisement
सभी साथी रहे देश विदेश की ताजा खबरों के साथ अपडेट तो डाउनलोड करें Google Play Store से हमारे मोबाइल एप को सभी राज्यों में एवं सभी जिलों एवं तहसीलों मैं संवाददाता बनने हेतु संपर्क करें निदेशक हरिओम शर्मा संपर्क सूत्र 9799200319,,,, 8058314720 हमसे जुड़ने के लिए सम्पर्क करें नेशनल न्यूज़ हेड :- पवन चौहान :- 09351478102,,
Saturday, May 15Tisari Aankh
Scroll news
हरियाणा की विशेष प्रभात खबरें~एक नजर* *12 अक्टूबर, 2020 सोमवार* *◼चंडीगढ़: हरियाणा में पांच साल बाद सिरे चढ़ेगी 38 स्टेशन सुपरवाइजर की भर्ती, चयन आयोग ने दिया संकेत* *◼चंडीगढ़: हरियाणा में पराली से कमाई शुरू, चीनी-पेपर मिलों को ईंधन ब्लॉक बनाकर बेच रहे किसान* *◼नई दिल्ली/चंडीगढ़: लाल डोरा मुक्त अभियान:227 गांव हो चुके लाल डोरा से मुक्त, पीएम ने की 221 गांवों को संपत्ति कार्ड देने की शुरुआत, वीसी के जरिए प्रधानमंत्री से जुड़े 6 राज्यों के मुख्यमंत्री* *◼चंडीगढ़: गुड़गांव जमीन घोटाला:ढींगरा आयोग व हुड्‌डा केस में खर्च की आधी जानकारी दी तो सूचना आयोग पहुंचे खेमका, गुड़गांव जमीन मामले में हुआ था ढींगरा आयोग का गठन* *◼चंडीगढ़- मिलावटी खाद्य पदार्थ बेचने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई: विज* *◼चंडीगढ़: प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना में हरियाणा के 221 गांवों का चयन, यह योजना हरियाणा के अलावा उत्तर प्रदेश, महाराष्ष्ट्र, उत्तराखंड व कर्नाटका में शुरू की गई है* *◼सभी तरह की लेटेस्ट विविध एवं शैक्षणिक खबरों के लिए "हरियाणा एजुकेशनल अपडेट" फेसबुक पेज ज्वाइन करें* *◼चंडीगढ़: कांग्रेस ने सुरजेवाला को ईएमसीसी का चेयरमैन बनाया, कै. अजय यादव का नाम भी शामिल* *◼कैथल- CMO निलंबन विवाद: सरकार के फैसले के विरोध में 14 अक्तूबर चिकित्सक लगाएंगे काले बिल्ले* *◼रोहतक- सीएम फ्लाइंग की रेड:रोहतक में ढाबे से 40,500 लीटर स्प्रिट पकड़ी, छोटी खेप में हरियाणा, यूपी व राजस्थान में करते थे सप्लाई, 24 गिरफ्तार* *◼चंडीगढ़- ग्रामीण स्तर पर यूथ क्लब का किया जाएगा गठन, युवाओं के सपनों को मिलेगी नई दिशा: खेल एवं युवा मंत्री संदीप सिंह* *◼चंडीगढ़: पंचायत चुनावों को लेकर शुरू की तैयारी, पानीपत-रोहतक की मतदाता सूचियां हो रही तैयार* *◼करनाल: सरकार से चौथा कानून चाहते हैं भूपेन्द्र हुड्डा, कहा- किसानों की फसल के लिए निर्धारित हो एमएसपी* *◼हिसार: अग्रोहा मेडिकल कॉलेज महत्वपूर्ण देखभाल केंद्र घोषित, कोरोना के उपचार के अलावा अन्य सेवाएं हो सकती हैं बंद* *◼सोनीपत: लोसुपा सुप्रीमो राजकुमार सैनी को पथराव की धमकी, पुलिस सुरक्षा में हेल्मेट पहनकर देना पड़ा भाषण* *◼सिरसा: 12 पंचायतों ने कलेक्टर रेट पर जमीन देने के लिए भेजा प्रस्ताव* *जयपुर :-* *राजस्थान एटीएस ने की बड़ी कार्रवाई;* आईपीएल सट्टे को लेकर हैदराबाद, दिल्ली व जयपुर समेत कई जगह रेड; 7 सट्टेबाज हैदराबाद व 7 जयपुर से दबोचे; दिल्ली मे आरोपी हुआ मौके से फरार; राजस्थान में सट्टा व्यापार हेतु इस्तेमाल किये जाने वाले कई उपकरण बरामद; *14 गिरफ्त लोगों में हैदराबाद से गणेश जालानी, पंकज सेठिया व सुरेश चलानी, जयपुर से देवेंद्र कोठारी व राजेन्द्र शेवेदकर निवासी मुम्बई शामिल;* यह गिरोह बताया जा रहा अंतरराज्यीय; पूछताछ में कुछ और बड़े नाम सामने आने की सम्भावना *Kota* *MBS अस्पताल के कोटेज वार्ड में घुसा कोबरा* कोबरा देख मरीज और कर्मचारियों के मची खलबली, स्नैक कैचर को बुलाया मौके पर, स्नैक कैचर गोविंद शर्मा ने पकड़ा कोबरा सांप *Jaipur* *त्यौहारी मौके पर 'शुद्ध के लिए युद्ध अभियान'* मिलावटी मावे की रोकथाम के लिए अभियान, आज से प्रदेशभर में चलेगा विशेष जांच अभियान, *12 से 16 अक्टूबर के बीच चलाया जाएगा अभियान* अभियान को लेकर सभी CMHO को निर्देश, हर दिन मुख्यालय को भेजनी है रिपोर्ट

रूस ने एलेक्सी नवेलनी को जेल के अस्पताल भेजा – BBC हिंदी

रूस, एलेक्सी नवेलनी

इमेज स्रोत, Getty Images

इमेज कैप्शन,

एलेक्सी नवेलनी अपनी मेडिकल टीम से जांच कराने की मांग को लेकर 31 मार्च से भूख हड़ताल पर हैं.

रूस के विपक्षी नेता एलेक्सी नवेलनी को जेल के अस्पताल ले जाया गया है. अधिकारियों के अनुसार, उनकी हालत ‘संतोषजनक’ है.

एफएसआईएन​ प्रिजन सर्विस ने बताया है कि कि हर रोज़ एक डॉक्टर नवेलनी की जांच कर रहे हैं. यह भी बताया गया कि वे विटामिन लेने को तैयार हो गए हैं.

अपर्याप्त मेडिकल सुविधा और निजी मेडिकल टीम से न मिलने देने की शिकायत को लेकर वे पिछले 31 मार्च से अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर हैं. उन्हें मास्को से 100 किलोमीटर पूर्व में पोक्रोव के एक जेल में रखा गया है.

एलेक्सी नवेलनी को पिछले साल अगस्त में जहर ​दिया गया था लेकिन बेहतर इलाज के बाद वे बचने में सफल रहे. हालांकि उनके डॉक्टरों ने कहा है कि उनकी पीठ में काफी दर्द है और पैर में भी समस्या है. उनके निजी डॉक्टरों की राय है कि यदि जल्द उन्हें ज़रूरी मेडिकल सुविधा मुहैया न कराई गई तो कुछ ही दिनों में उनकी मौत हो सकती है. डॉक्टरों ने ब्लड रिपोर्ट के आधार पर कहा कि उनकी किडनियों के फेल होने और हर्ट अटैक का ख़तरा बना हुआ है.

इस बीच अमेरिका ने चेताया है कि यदि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के सबसे मुखर आलोचक एलेक्सी नवलनी की जेल में मौत हो गई तो रूस को इसके ‘नतीजे’ भोगने होंगे. ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और यूरोपीय संघ ने भी उनके ईलाज के स्तर पर चिंता जताई और उनकी रिहाई की मांग की है.

इससे पहले फरवरी में नवेलनी को गबन के एक पुराने मामले में जेल में डाल दिया गया था. लेकिन नवेलनी का दावा है कि यह आरोप राजनीति से प्रेरित है. यूरोप के मानवाधिकार कोर्ट ने कहा था कि उनके मामले में ‘न्याय का उल्लंघन’ हुआ है.

अमेरिका की रूस को धमकी

अमेरिका ने रूस को चेतावनी दी है कि विपक्ष के नेता एलेक्सी नवेलनी की यदि जेल में मौत हो जाती है तो उसे इसके ‘परिणाम’ झेलने होंगे.

ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी और यूरोपीय संघ ने भी उनके इलाज को लेकर चिंता ज़ाहिर की है.

नवेलनी के डॉक्टरों ने कहा है कि य​दि उन्हें तेज पीठ दर्द और सुन्न हुए पैर के लिए ज़रूरी मेडिकल सुविधा न दी गई तो अगले कुछ दिनों में उनकी मौत हो सकती है.

वहीं ब्रिटेन में रूस के राजदूत ने कहा है कि नवेलनी ‘अटेंशन’ चाहते हैं, उन्हें जेल में मरने नहीं दिया जाएगा.

44 साल के एलेक्सी नवेलनी रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बड़े आलोचक हैं. फरवरी में गबन के एक पुराने मामले में उन्हें जेल में डाला गया था. उन्हें मॉस्को से लगभग 100 किलोमीटर पूर्व में स्थित पोक्रोव शहर के एक जेल में रखा गया है.

हालांकि नवेलनी का दावा है कि ये आरोप राजनीति से प्रेरित हैं.

उन्होंने अपनी मेडिकल टीम को ख़ुद की जांच नहीं करने देने के विरोध में 31 मार्च को भूख हड़ताल शुरू कर दी थी. उनके डॉक्टरों ने कहा था कि हाल में हुई ख़ून की जांच के नतीजे बताते हैं कि उनकी किडनी ख़राब हो सकती है और उन्हें कभी भी दिल का दौरा पड़ सकता है.

रूसी जेल के भीतर नवेलनी को बेहतर इलाज मुहैया न कराने के ख़िलाफ़ रविवार को हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर के विरोध प्रदर्शन में कई देश शामिल हुए.

अमेरिकी राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जैक सलिवन ने सीएनएन से हुई बातचीत में कहा कि यदि नवेलनी की मौत हो जाती है तो इसके ‘परिणाम’ भुगतने होंगे. इसके लिए रूस को ‘अंतरराष्ट्रीय समुदाय द्वारा जिम्मेदार’ ठहराया जाएगा. राष्ट्रपति जो बाइडन ने भी कहा है कि उनका इलाज ‘पूरी तरह से गलत और अपर्याप्त’ है.

जैक सुलिवन ने ट्विटर पर डाले गए एक ट्वीट में लिखा, ”नवेलनी को तुरंत रिहा किया जाना चाहिए और उन पर हुए जानलेवा हमले के अपराधियों को जिम्मेदार ठहराना चाहिए. नवेलनी पर क्रेमलिन के हमले न केवल मानवाधिकारों का उल्लंघन है बल्कि अपनी आवाज़ उठाने वाले रूसियों का यह अपमान है.”

इमेज कैप्शन,

उन्हें मॉस्को से लगभग 100 किलोमीटर पूर्व में स्थित पोक्रोव शहर के एक जेल में रखा गया है

अमेरिका का दबाव पहले से ही है

रासायनिक हथियार एजेंट नोविचोक के साथ नवेलनी को घातक ज़हर देने के मामले में पिछले साल ही रूस से अमेरिका राजनयिक स्तर पर उलझ गया था.

हालांकि क्रेमलिन ने नवेलनी के इन दावों का खंडन किया था कि राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के आदेश पर उसे जहर दिया गया था. हालांकि अमेरिकी खुफ़िया अधिकारियों का मानना था कि जहर देने की इस घटना के पीछे मॉस्को का हाथ था. इस घटना ने बाइडन प्रशासन को वरिष्ठ रूसी अधिकारियों पर प्रतिबंध लगाने के लिए बाध्य किया.

अब इसके जवाब में रूस भी अपने कदम उठा रहा है.

उम्मीद है कि यूरोपीय संघ के नेतागण सोमवार को इस मामले पर विचार कर सकते हैं.

शीर्ष राजनयिक जोसेप बोरेल ने कहा है कि इस मामले पर यूरोपीय संघ बहुत चिंतित है. उन्होंने रूसी जेल अधिकारियों से नवेलनी की चिकित्सा टीम को तुरंत उनके पास जाने की अनुमति देने की अपील की है.

जोसेप बोरेल ने ट्विटर पर अपने ट्वीट में लिखा, एलेक्सी नवेलनी के बिगड़ते स्वास्थ्य को लेकर बहुत चिंतित हूं. रूसी अधिकारियों को उन तक उन डॉक्टरों को तुरंत जाने देना चाहिए जिन पर वे भरोसा करते हों. उनकी सुरक्षा और स्वास्थ्य के लिए हम उन्हें जिम्मेदार मानते हैं. यूरोपीय संघ लगातार नवेलनी की तत्काल और बिना शर्त रिहाई के लिए अपील कर रहा है.

यूरोपीय काउंसिल प्रेस की ओर से भी ट्वीट किया गया जिसमें कहा गया, ”यूरोपीय संघ की ओर से एलेक्सी नवेलनी के बिगड़ते स्वास्थ्य पर जोसेप बोरेल का बयान आया है. यूरोपीय संघ एलेक्सी नवेलनी के विश्वासी मेडिकल टीम को उन तक जाने देने की अपील रूसी अधिकारियों से करता है.”

ब्रिटेन के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है, “नवेलनी को स्वतंत्र मेडिकल सुविधा तक तत्काल पहुंच देनी चाहिए. हम उनके राजनीतिक कारावास से उनकी तुरंत रिहाई की अपनी मांग फिर से दोहराते हैं.”

नवेलनी की 20 साल की बेटी, डेरिया नवेलनेया, जो अभी अमेरिका के कैलिफॉर्निया में पढ़ रही हैं, ने ट्विटर पर लिखा कि “एक डॉक्टर को मेरे डैड को देखने की अनुमति दी जाए.”

समाचार एजेंसी एपी के अनुसार, नवेलनी की पत्नी यूलिया ने कहा कि जब से उनके पति ने भूख हड़ताल शुरू की है तब से उनका वजन क़रीब नौ किलोग्राम घट गया है.

रूस में नेवलनी के समर्थक बुधवार को पूरे देश में एक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. उनके समर्थकों ने कहा है कि ऐसे हालात में बहुत जल्द काम करने की जरूरत है नहीं तो अपूरणीय क्षति हो जाएगी.

इससे पहले शुक्रवार को, चार डॉक्टरों ने जेल अधिकारियों को लिखा कि नवेलनी को तुरंत देखने की अनुमति दी जाए क्योंकि उनका पोटेशियम ख़तरनाक स्तर तक पहुंच गया है.

जहर मिलने के बाद नवेलनी का इलाज करने वाले डॉ. अलेक्जेंडर पोलुपान ने कहा है कि उनकी ख़ून की रिपोर्ट इस बात का पूर्ण संकेत है कि उन्हें तत्काल मेडिकल सुविधा की जरूरत है. नहीं तो वे अगले कुछ दिनों में मर जाएंगे.

नवेलनी के निजी फिजिशियन एनेस्तासिया वेसिलीवा, जिन्हें जेल के बाहर विरोध करने के लिए गिरफ़्तार किया गया था, ने एक ट्वीट किया कि वे और तीन अन्य डॉक्टर जेल में जाने देने के लिए “दो घंटे तक खड़े होकर गुहार करते रहे” लेकिन उन्हें भीतर जाने से मना कर दिया गया.

70 से अधिक जाने-माने लेखक, कलाकार और शिक्षाविदों ने नवेलनी तक पर्याप्त चिकित्सा देखभाल मुहैया कराने के लिए राष्ट्रपति पुतिन से अपील करने वाले एक पत्र पर हस्ताक्षर किए हैं. इस पत्र को ‘द इकोनॉमिस्ट’ और फ्रांस के ‘ला मोंड’ अख़बार में प्रकाशित किया गया. इस पत्र पर हॉलीवुड अभिनेता जूड लॉ, रॉल्फ फिनेस और बेनेडिक्ट कंबरबैच, हैरी पॉटर की लेखिका जेके रोलिंग और निर्देशक केन बर्न्स के हस्ताक्षर शामिल हैं.

हालांकि रविवार को प्रसारित बीबीसी के एंड्रयू मार के साथ एक इंटरव्यू में ब्रिटेन में रूस के राजदूत आंद्रेई केलिन ने कहा कि नवेलनी की जान ख़तरे में नहीं है.

उन्होंने कहा, “बेशक़, उन्हें जेल में मरने नहीं दिया जाएगा. वैसे मैं कह सकता हूं कि नवेलनी एक गुंडे जैसा व्यवहार करते हैं. वे हर स्थापित नियमों का उल्लंघन करने की कोशिश करते हैं.”

उन्होंने यह भी कहा कि नवेलनी लोगों का ध्यान अपनी ओर खींचने का प्रयास कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Saturday, May 15Tisari Aankh
Social Media Auto Publish Powered By : XYZScripts.com
Breaking news
अलवर: अलवर जिले में नाबालिग बच्ची के साथ सामूहिक बलात्कार, 100 दिन बाद भी आरोपी खुलेआम घूम रहे है। इंसाफ नही मिलने पर राष्ट्रपति से इच्छामृत्यु की अपील। आम आदमी पार्टी पीड़ित को न्याय दिलाने, आरोपियों को फांसी की सजा के साथ ही जांच और गिरफ्तारी में हुई देरी के लिए ज़िम्मेदार अधिकारियों को बर्खास्त करने की मांग करती है। *अलवर* *भिवाड़ी में देसी और अंग्रेजी शराब बनाने का भंडाफोड़, बनाई गई अवैध शराब को शराबबंदी वाले राज्यों में किया जाता था सप्लाई, फूलबाग थाना पुलिस ने पूरी फैक्ट्री को किया सीज, पुलिस ने आरोपियों को भी किया गिरफ्तार, कुछ देर बाद पुलिस अधीक्षक करेंगे मामले का खुलासा*